July 22, 2024

कढ़ी जब ऐसे बनाओगे तो उंगलिया चाटते रह जाओगे Kadhi Recipe

कढ़ी जब ऐसे बनाओगे तो उंगलिया चाटते रह जाओगे Kadhi Recipe

Kadhi Recipe Kaise Banaye (कढ़ी की रेसिपी) कढ़ी उत्तर भारत में हर जगह पसंद की जाती है और इसको बनाना काफी मुश्किल भी समझा जाता है अधिकतर लोग कढ़ी बनाना बहुत मुश्किल समझते है| तो जो लोग अब तक कढ़ी के स्वाद से महरूम थे अब उनको टेंशन लेने की बिलकुल जरूरत नही है क्योंकि आज हम लेकर आये है कढ़ी की ऐसी जबर्दस्त और आसान रेसिपी जिसको आप आसानी से और कम समय में बनाकर तैयार कर सकते है| इस रेसिपी में जो तरीका बताया है उस तरीके से आप इस कढ़ी को बनायेंगे तो आप आगे के लिए कढ़ी ऐसे ही बनायेंगे भी और खायेंगे भी तो चलिए शुरू करते है|

Kadhi Ki Sabji Recipe

Kadhi Recipe

Kadhi Recipe Kaise Banaye|(कढ़ी बनाने के लिए सामग्री):-

कढ़ी का घोल बनाने के लिए

  • दही 600 ग्राम
  • बेसन 6 कप
  • 2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • हल्दी पाउडर 2 चम्मच
  • धनिया पाउडर 1 ½ चम्मच
  • पानी 800 ml
  • प्याज 2 बारीक़ कटा हुआ

कढ़ी पकाने के लिए सामग्री

  • सरसों तेल 2 चम्मच
  • जीरा 1 चम्मच
  • सोंफ 1 चम्मच
  • खड़ा धनिया ( कुटा हुआ ) आधा चम्मच
  • राइ के दाने 1 चम्मच
  • हिंग चुटकी भर
  • हरी मिर्च 4 लम्बी कटी हुई
  • नमक (स्वादानुसार)
  • तड़का लगाने के लिए सामग्री
  • घी = 1 ½ चम्मच
  • जीरा = ½ चम्मच
  • खड़ी लाल मिर्च = 5
  • लाल मिर्च पाउडर = आधी चम्मच

Kadhi Banane Ka Tarika कढ़ी बनाने की विधि

सबसे पहले कढ़ी बनाने के लिए बेसन को छान लेंगे| और 1 बाउल में बेसन लेकर उसमे हल्दी, लाल मिर्च, पाउडर, और धनिया पाउडर, को मिलाकर रख देंगे| अब एक बड़े बर्तन में कढ़ी का घोल तैयार कर लेंगे| उसमे दही को छानकर अच्छे से फेटेंगे| अब बेसन के अन्दर थोडा थोडा दही डालते हुए मिला लेंगे| और घोल को अच्छे से मिलायेंगे घोल में गांठ न हो इसके लिए बीच बीच में पानी डालते रहे और घोल को मिलाते रहे| घोल फिर भी गाढ़ा लगे तो थोडा सा पानी और डाल दें क्योंकि कढ़ी जब पकती है तो वह गाढ़ी हो जाती है| घोल को अब एक तरफ रख देंगे|

अब एक बर्तन में तेल गर्म करेंगे और उसमे हिंग जीरा, राइ के दाने और सरसों के दाने को डालकर उन्हें चटकने देंगे| जब जीरा और राइ चटक जाए तब इसमें हम तीन हरी मिर्च को काटकर डाल देंगे और एक छोटा टुकड़ा अदरक का कद्दूकस करके डाल देंगे और थोड़ी देर उसे पका ले| थोड़ी देर पकने के बाद अब हमने जो घोल तैयार किया था उसे डाल देंगे यहाँ ध्यान रखें घोल को लगातार चलाते रहें नहीं तो कढ़ी फट जाएगी तब तक चलायें जब तक की कढ़ी में एक उबाल न आ जाये जब कढ़ी में एक उबाल आ जाये तब हम इसमें स्वादानुसार नमक डाले| कढ़ी को 30-40 मिनट पकाएंगे उसके बाद कढ़ी बनकर तैयार हो जाएगी|

कढ़ी में तड़का लगाना

जीरे का तड़का लगाने से कढ़ी का स्वाद बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो एक पेन में घी डालकर उसमे राइ के दाने और जीरे को तडका लेंगे जब राइ और जीरा तड़कने लगे तब इसमें खड़ी लाल मिर्च और लाल मिर्च पाउडर डालेंगे| और इस तडके को कढ़ी में डाल देंगे और कढ़ी बनकर तैयार है| आप इसे चावल के साथ परोसकर खाए| या फिर पुलाव, या पराठा से भी इसका स्वाद दुगना लगता है|

क्या कढ़ी स्वास्थ्य के लिए अच्छी है?

यह सूजन, कब्ज और मुँहासे को कम करने में मदद करता है, और इसका उपयोग माइग्रेन और मिजाज के लिए रोकथाम के तरीके के रूप में भी किया जाता है , मुंबई स्थित पोषण विशेषज्ञ कहते हैं। कढ़ी निश्चित रूप से भारत के हर घर में खाई जाती है।

सर्दी में कढ़ी खा सकते हैं क्या?

ऐसे में अगर गरमा-गरम कढ़ी का उपयोग पीने के लिए किया जाए तो आपकी सर्दी बहुत जल्द ही ठीक हो सकती है।

कढ़ी की तासीर क्या होती है?

कढ़ी में दही की मात्रा ज़्यादा होने की वजह से इसकी तासीर ठंडी होती है।

बेसन की कढ़ी में कितना प्रोटीन होता है?

बेसन में गेहूं के आटे की तुलना में अधिक अच्छा वसा होता है और प्रोटीन की मात्रा भी अधिक होती है।

रात में कड़ी चावल खाने के फायदे नुकसान होते हैं?
  • कढ़ी चावल में हाई कैलोरी नही होती है|
  • अच्छी नींद आती है।
  • वजन प्रबंधन में मददगार है।
  • पेट संबंधी समस्याएं नहीं होती हैं।
  • हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।
  • भोजन का पाचन ठीक से हो पाता है।

Read More Recipe…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *